धीरे-धीरे सहज हो रहा ब्लू व्हेल गेम में फंसा छात्र

सैदपुर (गाजीपुर)। ब्लू व्हेलगेम के जाल में फंसा छात्र जितेंद्र चिकित्सकीय इलाज के साथ और पुलिस के भरोसे के चलते धीरे-धीरे सहज हो रहा है। शनिवार को वह अपने मालवीय नगर आवास पर पहले की तरह अपनी पढ़ाई करने के साथ मित्रों में बातचीत करने में जुटा रहा।
इंटरनेट के खतरनाक खेल ब्लू व्हेल के एडवांस स्टेज में पहुंचे छात्र जितेंद्र सोनकर 13 सितंबर को विद्यालय प्रबंधतंत्र की सजगता से प्रकाश में आया। स्थानीय पुलिस अधिकारियों के साथ जिला के पुलिस अधीक्षक ने छात्र जितेंद्र को उसकी सुरक्षा का भरपूर भरोसा दिलाया, जिससे उसका आत्मविश्वास बढ़ा। चिकित्सा के क्रम में 15 सितंबर को जिला अस्पताल के निर्देशानुसार छात्र को कोतवाली के आरक्षी अजय पांडेय और मनोज गुप्ता की अभिरक्षा में वाराणसी के पंडित दीनदयाल उपाध्याय मंडलीय चिकित्सालय में दिखाया गया। दो क्रम की काउंसिलिंग के बाद चिकित्सकों ने उसे 15 दिनों बाद चिकित्सार्थ के लिए बुलाया है। इस संबंध में कोतवाल शरदचंद्र त्रिपाठी ने बताया कि जितेंद्र से मेरी बातचीत हुई है। वह ठीक है और अपने पूर्व मन:स्थिति में वापस आ रहा है। उसके सुरक्षा के भरोसे के लिए उसके आवास पर दिन में सिपाहियों को भेजा गया था। वहीं विद्यालय के प्रधानाचार्य प्रमोद कुमार मिश्र ने बताया कि जितेंद्र अभी स्कूल नहीं आ रहा है। रविवार को प्रबंधक के साथ छात्र से मिलने उसके घर जाना है।

संदिग्ध हालात में विवाहिता की मौत

कासिमाबाद (गाजीपुर): थाना क्षेत्र के हसनपुर ग्राम पंचायत के करमुपुर गांव निवासी विवाहिता साधना (22) की संदिग्ध हालात में फंदे से लटकती लाश मिलने से सनसनी फैल गई। इस मामले में भाई सोनू ने तहरीर देकर साधना के पति अशोक, श्वसुर चंद्रिका प्रसाद व सास दुर्गावती पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

मरदह थाना क्षेत्र के बोगना गांव निवासी हरेंद्र राम ने अपनी पुत्री साधना की शादी 19 मई 2016 को कासिमाबाद थाना क्षेत्र के हसनपुर गांव निवासी चंद्रिका राम के पुत्र अशोक से की थी। उन्होंने अपने साम‌र्थ्य के अनुसार सामान भी दिया था। आरोप है ससुराल के लोग दहेज के लिए लगातार दबाव बनाते रहे। उनकी जो डिमांड होती थी हरेंद्र उसे पूरा करते थे। आरोप है कि उनकी मांग इतनी बढ़ गई कि वह साधना को उसके पिता से पांच मंडा जमीन बेचकर पैसा देने की बात कहने लगे ताकि उस पैसे से भी अपना घर बनवा सकें। मायके वालों के दावे के मुताबिक साधना ने ये बात मंगलवार की रात अपनी मां गुलाबी देवी व भाई सोनू को फोन करके बताई थी। आरोप है कि दहेज लोभियों ने रात में करीब दो बजे साधना की गला दबाकर हत्या कर दी। उसके शव को धरन से लटका दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि साधना फंदे पर लटकी हुई है। कहा जा रहा है कि उसका पैर भी जमीन को छू रहा था। साधना के पति अशोक के गाल, हाथ व सीने पर कई जगह नाखून के खरोच के निशान थे। पुलिस ने सोनू की तहरीर पर साधना के सास, ससुर व पति को हिरासत में ले लिया है। दो माह पूर्व ही साधना मायके से ससुराल आई थी। मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी हृदयानंद ¨सह वह थानाध्यक्ष विकास पांडेय ने मौका मुआयना किया।

विवाहिता की मौत को हत्या या आत्महत्या कहना अभी जल्दबाजी होगी। पीएम रिपोर्ट के बाद हम किसी निष्कर्ष पर पहुंच सकेंगे।

फिलहाल मृत विवाहिता के भाई सोनू की तहरीर पर साधना के पति अशोक, ससुर चंद्रिका व सास दुर्गावती के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

-विकास पांडेय, एसओ।