गाजीपुरः लाखों रुपया लेकर चिटफंड कंपनी फरार, निवेशकों में हाहाकार

chit fund company run away from ghazipur

यूपी के गाजीपुर में कई वर्षों तक चलने वाली एक चिटफंड कंपनी अचानक एक रात जनता की गाढ़ी कमाई के लाखों रुपये लेकर फरार हो गई। ‘रियल सनराइज केएम टेक लिमिटेड’ नामक चिटफंड महुआबाग-गाजीपुर में चल रही थी।

कंपनी का मुख्यालय डी-48 कंपनी विधानपाली, कलकत्ता बताया गया था। कंपनी ने कई लोगों को अपना एजेंट बना रखा था। इस संबंध में जमानिया कोतवाली क्षेत्र के बड़ेसर निवासी रामजी यादव ने सदर कोतवाली में आठ लोगों के विरुद्ध धोखाधड़ी की एफआईआर कोर्ट के आदेश पर बीते सात अक्तूबर को दर्ज करायी है।

वर्ष 2012 में ‘रियल सनराइज केएम टेक लिमिटेड’ नाम की एक चिटफंड कंपनी का शहर के महुआबाग में कार्यालय खोला गया। कार्यालय खुलने के बाद कंपनी ने लोगों से संपर्क साधना शुरू किया। कुछ लोगों को झांसे में लेकर तथा लालच देकर एजेंट बनाया।

कंपनी ने वर्ष 2014 में करंडा के भटौली गांव में वाशिंग पाउडर का एक प्लांट लगाया और लोगों को विश्वास दिलाया कि अब कंपनी का पैसा बाहर नहीं जाएगा और यहीं बेहतर व्यवसाय कर उनके पैसे को दोगुना किया जाएगा।

ऐसे में निवेशकों का और विश्वास बढ़ा और काफी पैसा कंपनी में जमा हो गया। ज्यादा कलेक्शन आने पर कंपनी ने धीरे-धीरे सक्रियता कम कर दी और वर्ष 2016 में एक दिन कंपनी ने ताला बंद कर फरार हो गई।